OM

Just another weblog

9 Posts

1 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 11252 postid : 1093872

बेनाम चौराहा ......

  • SocialTwist Tell-a-Friend

माँ कहती है
तेरे किस्मत में जनाज़ा है, तो बेटा जी लेना …
बेनाम मर के जनाजे को, बदनाम न कर …

माँ कहती है …..
तेरी मौत की उमर लम्बी हो, ..
इसलिए तुझे शरहद पे भेजा है …..

माँ कहती है …..
मुझे पता है, मेरे मौत से पहले ,
तेरे बदन की जरुरत है , वतन को ……….

माँ कहती है ……..
तूने शरहद के इस पार,
अपने सिने से , सिर्फ एक गोली रोकी,
और हर घर के पते पे, तेरा नाम आ गया….

माँ कहती है
क्या हुआ जो हमारा घर , किराये पे बसा है.
इन गलियों के चौराहे पे, अब तेरा नाम आ गया ….

माँ कहती है
मौत आने से पहले , मैं भी जिंदगी जी गई …
तेरे शहादत के दम पे आज, मैं भी अमर हो गई।

अब एक और माँ कहती है
बेटा
तेरे भी किस्मत पे जनाजा है , तो देर न कर
मैंने भी किराये का एक घर, बेनाम चौराहे पे लिया है।

Web Title : इक माँ का, बेनाम चौराहा ......

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



latest from jagran